UFO Full Form: यूएफओ क्या है, क्या सच में ये होता है? – UFO का फुल फॉर्म

UFO full form (UFO का फुल फॉर्म): आप सबने “कोई मिल गया” फिल्म ज़रूर देखी होगी। इस फिल्म में एक UFO दिखाया गया था।  हमने कई कहानियों में भी UFO के बारे में पढ़ा है। जी हाँ, आप ने सही समझा। आज हम UFO के बारे में चर्चा करेंगे। UFO आज भी एक रहस्य है। वैसे तो कई लोगों ने इसे देखने का दावा किया है।

ufo full form

आज भी वैज्ञानिकों द्वारा UFO पर अनुसंधान चलाया जा रहा है और यह समझने की कोशिश की जा रही है की क्या वाकई में UFO का संबंध भिन्न ग्रहों के प्राणी से है? क्या वाकई दूसरे ग्रहों में जीवन है और क्या सच में पृथ्वीवासियों से संपर्क स्थापित करने के लिए बार बार UFO का आगमन होता है? , आखिर UFO क्या है? और साथ ही जानते हैं की आखिर क्या है UFO का रहस्य।

UFO full form: यूएफओ क्या है, इसका फुल फॉर्म

UFO के बारे में आगे बढ़ने से पहले क्यों न पहले UFO का full form जाना जाये? तो चलिए देखें की UFO का full form क्या होता है। 

English में UFO का full form है: “Unidentified Flying Object

Hindi में UFO का full form है: अज्ञात फ्लाइंग ऑब्जेक्ट (अनआइडेंटिफाइड फ्लाइंग ऑब्जेक्ट)

हिंदी में UFO को उड़नतश्तरी भी कहा जाता है। वैसे UFO को UAP भी कहा जाता है। 

UAP का full form है: Unidentified Aerial Phenomenon/अज्ञात हवाई घटना (अनआइडेंटिफाइड अरियल फेनोमेना)

What is UFO? UFO क्या है?

कोई भी देखी गई ऐसी हवाई घटना जिसे जल्दी से पहचाना या समझाया नहीं जा सकता, उसे UFO माना जाता है। इसे एक रहस्यमय आकाश वस्तु के रूप में वर्णित किया जा सकता है और अक्सर इसके लिए कोई वैज्ञानिक स्पष्टीकरण नहीं मिलता। इसे अक्सर भिन्न ग्रहों के प्राणियों को ले जाने वाला अंतरिक्ष यान माना जाता है। इसीलिए ऐसा कहा जाता है की UFO का  संबंध दूसरे ग्रहवासियों से है। 

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान, एलाइड और एक्सिस पायलटों ने प्रशांत और यूरोपीय इलाकों में गोलाकार, चमकती आग के गोले “फू फाइटर्स” के रूप में देखे जाने की सूचना दी। उस समय, राष्ट्रों ने सेंट एल्मो की आग, शुक्र ग्रह, ऑक्सीजन की कमी, मतिभ्रम, या जर्मन गुप्त हथियारों को संभावित कारणों के रूप में माना।

1946 में स्वीडिश सेना ने स्कैंडिनेवियाई देशों में अज्ञात विमान वस्तुओं की 2,000 से अधिक रिपोर्टें एकत्र कीं, साथ ही फ्रांस, पुर्तगाल, इटली और ग्रीस से कुछ ऐसी रिपोर्टें प्राप्त की गयी।

क्या आप जानते हैं की 1947 में पहली बार UFO देखने की घटना सामने आयी थी। व्यवसायी केनेथ अर्नोल्ड ने दावा किया कि उन्होंने वाशिंगटन में माउंट रेनियर के पास अपने विमान का संचालन करते समय तेज, अर्धचंद्राकार आकार की उड़ने वाली वस्तुओं के एक समूह को देखा था।

यही पहली सार्वजनिक रूप से UFO देखे जाने की घटना थी। केनेथ अर्नोल्ड ने दावा किया कि उन्होंने इन अजीब सी वस्तुओं को तश्तरी की तरह उड़ने वाले के रूप में देखा, जिसके परिणामस्वरूप “flying saucers” और “flying discs” जैसे शब्द उस समय काफी प्रचलित हो गए। जल्द ही, UFO देखे जाने के दावे नियमित रूप से सामने आने लगे। 

एक और प्रसिद्ध घटना थी रोसवेल घटना, जिसमें सैन्य अधिकारियों ने एक दुर्घटनाग्रस्त अवलोकन गुब्बारे के अवशेष को जब्त कर लिया था जो एक किसान द्वारा पाया गया था। UFO देखने की सूचना देने वाले कई लोगों ने दावा किया कि उन्होंने उड़नतश्तरी को नियंत्रित करने वाले एलियंस से बात की है, और कुछ ने तो दावा किया कि वे उड़नतश्तरी का दौरा कर चुके हैं।

In addition to these incidents, there have been others that deserve mention:

इन घटनाओं के अलावा, कुछ और भी हैं जो उल्लेख के योग्य हैं:

  • दिसंबर 1980 के अंत में, इंग्लैंड के सफ़ोक में रेंडलेशम जंगलों के पास अस्पष्टीकृत रोशनी की एक श्रृंखला की सूचना मिली, जो UFO देखे जाने से जुड़ी थीं।
  • फ्रांस में दो घटनाएं सामने आयी। 1965 में वैलेंसोल UFO घटना और 1981 में ट्रांस-एन-प्रोवेंस घटना।
  • अमेरिका में भी ऐसी घटनायें सामने आयीं। 1965 में, पेंसिल्वेनिया के निवासियों ने उस क्षेत्र में एक अजीब सी वस्तु को टकराते हुए देखा था। लोगों ने दावा किया की वह UFO था। 1975 में, ट्रैविस वाल्टन नामक एक व्यक्ति ने दावा किया की एलियंस ने उनका अपहरण किया था। 
  • 1997 की “फीनिक्स लाइट्स” वाली घटना – फीनिक्स लाइट्स उड़ने वाली अजीब वस्तुओं का एक समूह था जो अक्सर मैक्सिको के एरिज़ोना, नेवादा और सोनोरा के दक्षिण-पश्चिमी राज्यों में देखा जाता था। 

So is UFO a myth?

क्या UFO एक कल्पित कथा है?

1948 में, अमरीकी वायु सेना ने प्रोजेक्ट साइन लॉन्च किया, जो UFO देखे जाने की घटनाओं की जांच के लिए बना था। अधिकांश शोधकर्ताओं का मानना ​​था कि UFO उन्नत सोवियत विमान थे, बहुत ही कम शोधकर्ताओं ने अलौकिक अवधारणा का समर्थन किया। 1949 में प्रोजेक्ट साइन को प्रोजेक्ट ग्रज से बदल दिया गया था।

फिर 1952 में आया प्रोजेक्ट ब्लू बुक। प्रोजेक्ट ब्लू बुक के 17 साल के अस्तित्व के दौरान 12,000 घटनाओं को दर्ज किया गया। इन घटनाओं को दो श्रेणियों में विभाजित किया गया – जिन्हें प्राकृतिक जैसे, वायुमंडलीय और खगोलीय या फिर मानव निर्मित घटनाओं से जोड़ा जा सकता हो, और अन्य जिन्हें किसी कारण से जोड़ पाना संभव नहीं था। 

1953 में रॉबर्टसन पैनल की स्थापना हुई जिस पर दायित्व था की वह प्रोजेक्ट ब्लू बुक के परिणामों की समीक्षा कर सके। रॉबर्टसन पैनल के अनुसंधान के अनुसार, UFO देखे जाने की अधिकतर घटनाएं प्राकृतिक कारणों से जुडी थीं। 

1966 में एडवर्ड यू. कोंडोन को 59 घटनाओं की जांच करने का काम सौंपा गया था, जिन्हें शुरू में प्रोजेक्ट ब्लू बुक के दौरान दर्ज किया गया था। एडवर्ड भी इसी निष्कर्ष पर पहुंचे की UFO देखे जाने की घटनाएं एलियंस से सम्बंधित नहीं है, बल्कि प्राकृतिक कारणों से है। इन सब के बावजूद कुछ वैज्ञानिक ऐसे थे जो अब भी यही मानते थे की UFO एक अलौकिक घटना है। जे. एलन हाइनेक उन्ही लोगों में से एक थे। 1973 में उन्होंने सेंटर फॉर यूएफओ स्टडीज (CUFOS) नामक अपनी खुद की अनुसंधान समूह की स्थापना की थी।

कुछ देशों में UFO देखे जाने की घटना गुप्त सैन्य प्रयोगों का परिणाम थी जिससे जनता से अनजान रखा जाता था। इन प्रयोगों की वास्तविक प्रकृति को छिपाने के लिए, सरकारों ने कभी-कभी नागरिकों को समझाया की UFO अलौकिक लोगों द्वारा बनाई गयी वस्तु है। 

कई प्राकृतिक घटनाओं को UFO से जोड़ा गया। जैसे, लोग अक्सर शुक्र ग्रह को उड़ने वाली वस्तु समझ लिया करते थे, और चश्मे और खिड़कियों पर प्रतिबिंब सुपरइम्पोज़्ड चित्र बनने के कारण, या कैमरा लेंस द्वारा बनाये गए प्रभामंडल प्रभाव प्रबुद्ध वस्तुओं को तश्तरी की तरह बना सकते थे। इसी को लोग UFO समझने की भूल कर बैठते थे। 

दोस्तों आपको क्या लगता है? क्या आप भी मानते हैं की UFO का संबंध एलियंस से है? या फिर वाकई प्राकृतिक घटनाओं के कारण आंखों के धोखे की वजह से UFO जान पड़ते हैं? अपने विचार नीचे कमेंट सेक्शन पर शेयर करना न भूलें। 

More Important full forms:

UFO full form: Conclusion

इस लेख में मैंने आपको UFO की सारी महत्वपूर्ण जानकारी देने की कोसिस किया है जैसे UFO kya haiUFO ka full form (UFO full form in Hindi), UFO से अभिप्राय?, UFO का इतिहास (History of UFO), क्या सच में UFO होता है या ये सिर्फ एक Myth है? आदि।

अंत में मैं आप से यही कहना चाहूँगा की अगर आपको ufo full form, what is ufo in Hindi वाली यह लेख पसंद आया हो तो इसे सोशल मीडिया पे शेयर जरुर करें। अगर आप कुछ कहना या पूछना चाहते हैं तो निचे कमेंट कर सकते हैं।

Related Posts

Leave a Comment

error: Alert: Content selection is disabled!!