25+ Spoken English PDF Ebook Bundle Download

CEO full form: सीईओ कौन होता है, कैसे बने, योग्यता – सीईओ का फुल फॉर्म

CEO full form (सीईओ का फुल फॉर्म): हम रोज कोई न कोई नई टर्म से परिचित होते है उसी में से एक नया टर्म है CEO जिससे बहुत कम ही लोगों परिचित होंगे। इंटरनेट के जमाने में किसी भी तरीके की जानकारी ढूंढ निकालना कोई बड़ी बात नही है, तो चलिएआज के खास टर्म CEO के बारे में और भी खास जानकारी हासिल करते है।

CEO full form

आप सोशल मीडिया इस्तेमाल अवश्य तौर पर करते होगे और इस नाते आपने सोशल मीडिया के CEO के बारे में भी कुछ न कुछ सुन रखा होगा। अगर वो आपको याद नही तो आपने सुंदर पिचाई के बारे में तो अवश्य तौर जानते होगे। ये असल में गूगल के CEO हैं और यहां तक पहुंच पाना हर किसी की बात नहीं हैं।

CEO की सैलरी भी करोड़ों और लाखो के अंतर्गत आती है, लेकिन कार्य के मामले में ये और लोगो की अपेक्षा कही अधिक जिम्मदारी उठाते है।

आज के समय में हर एक कंपनी को प्रभावी ढंग से चलाने के लिए सीईओ ऑफिसर की जरूरत होती है। कंपनी में सीईओ के अलावा हजारों की तादात में कर्मचारी होते है। ये सब के सब सीईओ के अधीन रहकर कार्य करते है।

सीईओ किसी कंपनी या संस्था का मुख्य अधिकारी माना जाता है। मौजूदा समय में छोटी से बड़ी कंपनियों में एक सीईओ ऑफिसर का पोस्ट रखा जाता है। सीईओ की भूमिका कंपनी को चलाने के लिए खासतौर पर होती है। कंपनी से जुड़े सारे अहम फैसले सीईओ ऑफिसर ही लेते है। जैसे की कंपनी कम समय में कैसे विकास कर सके, कैसे अधिक से अधिक मुनाफा कमाया जाये, इसकी मार्केटिंग स्ट्रेटेजी क्या होगा।

बहुत कम लोगो को शायद इसकी जानकारी होगी कि कंपनी का सीईओ ही अपनी कंपनी का बजट तय करता है। उसी बजट के मुताबिक ही वही अपनी कार्य योजना को प्रभावी ढंग से संचालित कर पाता है। वो अपने द्वारा तय बजट में ही अपनी कार्य योजना के अनुसार बेशुमार लाभ कमाता है। इसके अतिरिक्त सीईओ की भूमिका ये भी तय करना है उसे किसके साथ मिलकर पार्टनरशिप करनी है।

CEO Full Form: सीईओ कौन होता है, कैसे बने? – CEO का फुल फॉर्म

CEO के फुल फॉर्म को लेकर लोग अक्सर doubt रखते है। CEO टर्म का इंग्लिश में फुल फॉर्म “Chief Executive Officer” होता है। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि CEO को हिंदी में “मुख्य कार्य अधिकारी” कहते है।

एक कंपनी या आर्गेनाइजेशन को कैसे आगे बढ़ाना है इन सभी चीजों की जिम्मेदारी Chief Executive Officer की ही होती है। सीईओ ये तय करता है कि मार्केट कंपनी के लिए बेनिफिशियल है कि नही या  किस कंपनी के साथ साझेदारी करना उसके लिए फायदेमंद साबित होगा।

एक कंपनी में किसी भी बड़े प्रोजेक्ट के लिए एक टीम बनाने का कार्य सीईओ ही करता है। कम शब्दो में कहा जाए तो एक कंपनी को किस तरह आगे बढ़ाना है ये सभी कार्य सीईओ के कंधे पर होता है। सीईओ के मुख्य अधिकारी या फिर Managing Director के नाम से भी जानते है।

कंपनी के सीईओ की भूमिका (Role of a CEO)

सीईओ एक निगम की नीतियों और दृष्टि को स्थापित करने के लिए अन्य शीर्ष अधिकारियों के साथ मिलकर काम करते है। सीईओ को एक निगम का हेड माना जाता है। ये कंपनी के सर्वोच्च रैंकिंग कार्यकारी के रूप में जाना जाता है। इनकी प्राथमिकता में प्रमुख कार्पोरेट डिसीजन लेने के साथ की अन्य जिम्मेदारी को बखूबी रूप से निभाना है। एक कंपनी के समग्र संचालन और संसाधनों का प्रबंधन करना होता है। एक सीईओ को अक्सर बोर्ड की स्थिति में देखा जाता है।

सीईओ की सैलरी (Salary of CEO)

एक सीईओ की अच्छी खासी सैलरी होती है। आप गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई का नाम कही से तो अवश्य सुन रखा होगा। इनकी सालाना की कमाई जानकर आपके होश भी उड़ जायेंगे। गूगल के सीईओ यानी कि सुंदर पिचाई को पीछे साल बतौर सैलरी के तौर पर कुल भुगतान US $200 मिलियन करीब 13 अरब रुपये की सैलरी प्रोवाइड की गई थी। ये सैलरी 2015 के अपेक्षा दुगुना है। वही एक रिपोर्ट के अनुसार 2016 में सुंदर पिचाई को $650,000 करीब 5 करोड़ रुपए मिले थे। जोकि असल में 2015 में मिली सैलरी से कुछ कम है।

सीईओ कैसे बने: इसके लिए जरूरी योग्यता

अगर आप सीईओ बनने की ख्वाइश रखते है, तो ऐसे में आपको बहुत अधिक डिग्री लेने की कोई आवश्यकता नहीं है। अगर आपने ग्रेजुशन कर रखा है तो इसके बाद एमबीए करके आप किसी कंपनी  के CEO बेहद आसानी से बन सकते है।

यही नहीं कंपनी का सीईओ बनने के लिए आपको अपने सभी कर्मचारियों को एक साथ लेकर चलना होगा। ये लोगो के सामने अपने क्रांतिकारी विचारों को प्रभावी तरीके से प्रस्तुत करते है। इससे लोग आपकी सोच से आपकी ओर खींचे चले आयेंगे। कंपनी की जटिल से जटिल समस्या का चुटकियों में हल निकालना इनका काम है।

कंपनी के सीईओ होने के नाते आपके अंदर निर्णय लेने की क्षमता होनी चाहिए। यदि आपके अंदर ऐसी खास क्वालिटी है, तो आपको सीईओ बनने से कोई नहीं रोक सकता।

सीईओ बनने के लिए आवश्यक गुण

  • बेहतर संचार का कौशल
  • क्रिएटिविटी
  • मैनेजमेंट
  • लीडरशिप
  • निर्णय लेने की क्षमता
  • प्रतिनिधि मंडल
  • सहयोग की भावना
  • ऑनेस्टी

 इस तरह से अब तक आपको पता चल गया होगा की सीईओ बनने के लिए ,आपकी शैक्षिक योग्यता के साथ आपके अंदर ही कुछ व्यवहारिक गुण होने भी बेहद जरूरी है। इसके बगैर आप सीईओ नहीं बन सकते।

More Important full forms:

CEO full form: Conclusion

इस तरह से आज के खास आर्टिकल में आपको सीईओ से जुड़ी बेहद खास गिनी चुनी और जरूरी जानकारी प्रदान  की गई। आज के आर्टिकल की जानकारी आपके लिए जीवन भर काफी महत्वपूर्ण साबित हुई होगी।अगर आपके मन में इसे लेकर अभी भी कोई कन्फ्यूजन या जिज्ञासा है तो आप कमेंट के जरिए हमसे जुड़ सकते है।

तो दोस्तों ये था एक CEO या CEO अधिकारी से जुडी सारी जानकारी। इसक लेख में मैं आपको सीईओ का फुल फॉर्म (CEO full form in Hindi) के अलावा ये भी बताया है की सीईओ क्या है (what is CEO), CEO officer कैसे बने, CEO बनने के लिए योग्यता, सैलरी, अन्य सुविधाएं आदि की भी विस्तृत जानकारी दिया है इस लेख में।

दोस्तों CEO ऑफिसर को अनेको सुविधाएँ तो मिलती ही हैं पर COMPENY के अलावा समाज में भी काफी इजत होती है इनकी क्योकि COMPENY को ये बहुत बड़ा योगदान देते हैं।

अंत में मैं आपसे यही काना चाहूँगा की अगर आपको CEO full form, (CEO का फुल फॉर्म), CEO कैसे बने, सैलरी, योग्यता आदि की जानकारी अच्छी लगी हो और आपको इस लेख से कुछ सिखने को मिला हो तो इसे सोशल मीडिया पे शेयर अवश्य करने ताकि अन्य लोग भी CEO full form in Hindi जान सकें।

Related Articles

Leave a Comment

error: Alert: Content selection is disabled!!