IPS Full Form: आईपीएस का फुल फॉर्म क्या है? (What is the full form of IPS officer)

Civil service का शौक रखने वाले लोग ips के बारे में तो जानते ही हैं। एक ips officer देश के कानून वयवस्था का महतवपूर्ण अंग होता है पर क्या आप जानते हैं की Ips का फुल फॉर्म (ips full form in Hindi) क्या होता है और ips कैसे बनें, ips बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

दोस्तों, भारत के केंद्र सरकार में और civil service के तीन मुख्य पदों में से एक होता है ips officer का पद। ips के अलावा IAS, IRS, CISF, IDAS, IDES, IES, IOFS, IRTS, RPF, तथा IFS आदि भी civil service के अंतर्गत आते हैं हालाँकि इस लेख में हमारा मुख्य फोकस IPS और इससे जुडी सभी जानकारी प्राप्त करना है।

ips full form

ips officer बनने के लिए कैंडिडेट को UPSC के सिविल परीक्षा के तीन चरण प्री, मैन्स तथा इंटरव्यू पास करना होता है। इन तीनो ही चरण पे ips की परीक्षा इतना कठिन होते हैं इसे पास करने के लिए क्षात्रो को दिन-रात एक करके कड़ी से कड़ी मेहनत करना पड़ता है।

दोस्त अगर आप भी एक ips officer बनना चाहते हैं या अगर आपको ips के बारे में जानने की जिज्ञासा है तो यह लेख आपके लिए ही है। इस लेख में मैं आपको ips के बारे में पूरी जानकारी जैसे ips ka full form, ips का पूरा नाम, ips कैसे बने, योग्यता, qualification, salary, age आदि की देने वाला हूँ।

IPS Full Form: क्या होता है IPS का फुल फॉर्म?

IPS का full form “Indian Police Service” होता है तथा हिंदी में इसे “भारतीय पुलिस सेवा” कहते हैं।

यह तीन सबसे प्रतिष्ठित अखिल भारतीय सेवाओं यानी भारतीय प्रशासनिक सेवाओं (Indian administrative services), भारतीय पुलिस सेवाओं (Indian police services), भारतीय विदेश सेवाओं (Indian Foreign Services) में शामिल है। IPS की स्थापना सन्न 1948 में हुई थी और यह गृह मंत्रालय के अधीन आता है।

एक ips officer देश के कानून वयवस्था का अभिन्न अंग होता है जिसका काम होता है कानून वयवस्था को बनाये रखना, तथा होने वाले क्राइम को कण्ट्रोल करना।

उत्पति: भारतीय पुलिस सेवा (IPS) की उत्पत्ति का पता भारत में ब्रिटिश शासन के दौरान Indian Imperial Police से लगाया जा सकता है। 1948 में, भारत के ब्रिटेन से स्वतंत्रता प्राप्त करने के एक साल बाद, Indian Imperial Police को भारतीय पुलिस सेवा अर्थात् IPS से बदल दिया गया था और तब से ही यह पद, नाम उपयोग में है।

भारतीय संविधान (1950) लिखे जाने के बाद, भारतीय पुलिस सेवा (IPS) का गठन भारत के संविधान के अनुच्छेद 312 के तहत तीन अखिल भारतीय सेवाओं (AIS) में से एक के रूप में किया गया था। अन्य दो अखिल भारतीय सेवाएं भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस-IAS) और भारतीय वन सेवा (आईएफएस-IFS) होते हैं। ये तीनो ही सेवाएँ भारत के केंद्र सरकार की तीन मुख्य civil services हैं।

IPS क्या है और IPS Officer कैसे बने?

IPS meaning: दोस्तों, ips का मतलब होता है Indian police service। यह एक एक पद होता है और इस पद पे जो व्यक्ति होता है उसे ips officer कहते हैं। यह पद  राज्य के सभी पुलिस तथा अन्य सभी भारतीय केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों के कर्मचारियों को बल प्रदान करता है।

एक ips officer का मुख्य रूप से कार्य होता है देश या राज्य के कानून व्यवस्था को बनाये रखना, अपराध रोकना व अपराधियों को पकड़ना, यातायात प्रबंधन करना, आदि। एक ips officer अपने राज्य का director general of police बन सकता है। वही केंद्र सरकार में वह CBI, IB या Raw का बड़ा director जैसे बड़ा officer बन सकता है। एक ips officer की तैनाती National security advisor जैसे बड़े और जिमेदार पद पे भी की जाती है।

अगर आप एक ips officer बनना चाहते हैं तो इसके एग्जाम, योग्यता, उम्र सीमा, तथा seletion process आदि की पूरी जानकारी होनी ही चाहिए तभी जाके आप अच्छे से तयारी कर सकते हैं।

IPS Exam:

IPS Officer बनने के लिए तीन चरणों पे कठिन परीक्षाएं पास करनी होती है। इस एग्जाम की जिमेदारी UPSC को दिया गया है। UPSC का मतलब होता है Union public service commission. भारतीय पुलिस में आईपीएस ऑफिसर का पद एक ऊचा तथा जिमेदार पद होता है इसलिए इस पद में होनहार, शिक्षित, काबिल और जिमेदार व्यक्ति को नौकरी देना अनिवार्य होता है।

UPSC एक ऐसी संस्था जो भारत के सबसे बड़े Civil services जैसे IAS, IPS, IFS, आदि की परीक्षाएँ Conduct कराता है। upsc की परीक्षा टॉप परिक्षावों में से एक है इसलिए इसे पास करने के लिए क्षात्रो को सालो मेहनत करना पड़ता है। बहुत ही कम क्षात्र ऐसे होते होते हैं जो first attempt में ही इस परीक्षा को पास कर पाते हैं।

योग्यता:

  • आईपीएस अधिकारी बनने के लिए न्यूनतम योग्यता ग्रेजुएशन है।
  • Upsc exam देने के लिए उम्मीद्वार किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन पास होना चाहिए।
  • Graduation में Minimum marks की कोई सीमा नहीं है, बस वह स्नातक पास होना चाहिए।
  • आईपीएस अधिकारी बनने के लिए आपको upsc exam पास करना होगा।

उम्र सीमा:

IPS Officer बनने या कहिये upsc की परीक्षा में सामिल होने के लिए उम्र सीमा 21 वर्ष से 27 वर्ष तक होती है। वहीँ Obc category में आने वाले उमिद्वारो को वर्ष की तथा Sc/St category में आने वाले क्षात्रो को 5 वर्ष अतिरिक्त छुट भी दी जाती है।

General category यानि सामान्य वर्ग के लोग अधिकतम 6 बार upsc की परीक्षा दे सकते हैं जबकि sc/st वर्ग के लोग अधिकतम 9 बार इस परीक्षा में सामिल हो सकते हैं। कोई भी उम्मीद्वार कितनी बार exam दे पायेगा, यह नियम तभी तक मान्य रहेगी जब तक उसकी अधिकतम उम्र सीमा पार नहीं हो।

Exam Pattern:

आईपीएस आधिकारी बनने के लिए upsc द्वारा ली जाने वाली तीन चरणों पे exam पास करना होता है। पहली परीक्षा को प्रारंभिक परीक्षा या pre exam बोलते हैं। इस परीक्षा को पास होने के बाद mains अर्थात् मुख्य परीक्षा देनी होती है।

जब उम्मीद्वार mains भी पास कर लेता है तब आती है सबसे अंतिम चरण की परीक्षा interview. आईपीएस के लिए interview भी बहुत कठिन होता है जिसमे कई तरह के प्रसनो से उनका जाँच किया जाता है तथा उनका personality, रहन सहन आदि देखा जाता है।

और अंत में जब उमीदवार इंटरव्यू भी पास कर जाता है तो वह एक आईपीएस अधिकारी यानि Indian police cervice officer बनता है।

IPS Officer की सैलरी:

यह बड़ा ही मजेदार जानकारी है, बहुत सारे लोग खासकरके आम लोगो को भी इस बात की दिलचस्बी होती है की आखिर इतने बड़े पद भी कार्यरत ऑफिसर की तनख्वाह कितनी होती होगी। तो चलिए ips full form के साथ साथ हम आपको ips की सैलरी भी बता ही देते हैं।

एक आईपीएस अधिकारी की माशिक वेतक लगभग 56000 रूपये से सुरु होती है और जैसे जैसे वे सीनियर पोस्ट पे पहुचते जानते हैं तो उनका वेतन भी बढ़ते जाता है। सीनियर पोस्ट की अगर बात करूँ तो उदाहरन के लिए एक IG Officer की सैलरी लगभग 145000 रूपये होती है और DGP की सैलरी लगभग 225000 रूपये होती है।

अन्य सुविधाएं:

आप एक आईपीएस ऑफिसर की सैलरी तो जान लिया परन्तु इन्हें बहुत सारी अन्य सुविधाएँ भी मिलती है जो उनके लिए काफी मददगार होती है।

अन्य सुविधाएँ जैसे गाड़ी, रहने के लिए घर, सिक्यूरिटी गार्ड, माली, फ़ोन, चिकित्सा, बिजली आदि आईपीएस ऑफिसर को दी जाने वाली कुछ प्रमुख सुविधाएँ हैं। इसके अलावा जैसा की हम जानते हैं की पुलिस अधिकारीयों को जान का भी खतरा बना रहता है अतः भगवन न करें की ऐसा हो परन्तु अगर की आईपीएस ऑफिसर की ड्यूटी के दौरान जान चली जाती है तो उसके परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जाती है।

IPS FULL FORM: Conclusion

तो दोस्तों ये था एक IPS या IPS अधिकारी से जुडी सारी जानकारी। इसक लेख में मैं आपको आईपीएस का फुल फॉर्म (Ips full form in Hindi) के अलावा ये भी बताया है की आईपीएस क्या है (what is ips), Ips officer कैसे बने, ips बनने के लिए योग्यता, सैलरी, अन्य सुविधाएं आदि की भी विस्तृत जानकारी दिया है इस लेख में।

दोस्तों आईपीएस ऑफिसर को अनेको सुविधाएँ तो मिलती ही हैं पर भारत में देश के स्तर के अलावा समाज में भी काफी इजत होती है इनकी क्योकि देश के लिए ये बहुत बड़ा योगदान देते हैं।

अगर आपका भी सपना है की आप एक Ips officer बनो और देश की सेवा करो तो इसके लिए आपको दृढ संकल्प और त्याग की जरूरत होगी। जैसा की मैंने बताया की आईपीएस बनने के लिए दी जाने वाली UPSC की परीक्षा बहुत ही कठिन होता है इसलिए आपको बहुत अच्छी तयारी करनी होगी तब जाके आप अच्छे मार्क्स की उम्मीद कर सकते हैं। meaninginhindi.net की सुभकामनाएँ आपके साथ है।

अंत में मैं आपसे यही काना चाहूँगा की अगर आपको IPS full form, (आईपीएस का फुल फॉर्म), Ips कैसे बने, सैलरी, योग्यता आदि की जानकारी अच्छी लगी हो और आपको इस लेख से कुछ सिखने को मिला हो तो इसे सोशल मीडिया पे शेयर अवश्य करने ताकि अन्य लोग भी ips full form in Hindi जान सकें।

Related Posts

2 thoughts on “IPS Full Form: आईपीएस का फुल फॉर्म क्या है? (What is the full form of IPS officer)”

Leave a Comment

error: Alert: Content selection is disabled!!