25+ Spoken English PDF Ebook Bundle Download

DIG Full Form: डीआईजी क्या है, कैसे बने, योग्यता, परीक्षा, सैलरी (DIG का फुल फॉर्म)

DIG ka full form

हमारे समाज में पुलिस अधिकारीयों की अहम भूमिका होती है। वे समाज के कानून और व्यवस्था को बनाए रखते हैं, जरूरत के समय जनता की सहायता करते हैं, अपराधों की जांच करते हैं और हमारे संपत्ति की सुरक्षा करते हैं।

आज हम भारतीय पुलिस की एक प्रतिष्ठित और विख्यात पद के बारे में बात करेंगे। हम बात कर रहे हैं DIG पद की। दोस्तों आज इस पोस्ट में हम आपको DIG पद से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे जैसे DIG का फुल फॉर्म (DIG full form), DIG कैसे बने, एक DIG की जिमेदारियां, DIG बनने के लिए आवश्यक योग्यता आदि।

साथ ही साथ आपको यह जानकारी भी देंगे की यदि आप भी एक DIG बनकर देश की सेवा करना चाहते हैं तो आपको क्या करना होगा। तो अंत तक इस आर्टिकल को ज़रूर पढ़ें। तो चलिए सुरु करें-

DIG का फुल फ्रोर्म क्या है? (Full Form Of DIG)

DIG पद के बारे में कुछ भी जानने से पहले आइये सबसे पहले यह जानें की DIG का full form क्या होता है। 

English में DIG का full form है – “Deputy Inspector General” होता है।

Hindi में DIG का full form है – “प्रति महानिरीक्षक/उप महानिरीक्षक/डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल” होता है।

एक IPS अधिकारी को DIG के रूप में नामित किया जा सकता है। DIG का पद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (Senior Superintendent of Police) या पुलिस उपायुक्त (Deputy Commissioner of Police) से ऊंचा होता है।

एक DIG या तो महानिरीक्षक (Inspector General) या संयुक्त पुलिस आयुक्त (Joint Commissioner of Police) को रिपोर्ट करता है। एक राज्य में कई DIG हो सकते हैं।

यह एक बहुत ही सम्मानित पद है क्यूंकि DIG महानिरीक्षक यानी Inspector General (IG) के साहचर्य में काम करते हैं। DIG रैंक के अधिकारियों के कॉलर पर गहरे नीले रंग की पृष्ठभूमि पर एक सफेद सिलाई वाली रेखा वाले जॉर्जेट पैच शोभा पाते हैं।

अगली बार यदि आप किसी पुलिस अफ़सर के कॉलर पर ऐसा पैच देखें, तो आप समझ जाएंगे की वह एक DIG अधिकारी है। 

चलिए अब एक DIG के कर्त्तव्य के बारे में जानते हैं।

Responsibilities of a DIG:

एक DIG की निम्नलिखित जिम्मेदारियां होती हैं:

  • एक DIG महानिरीक्षक (IG) को रिपोर्ट करता है और उनके निर्देशों का पालन करता है।
  • जब कभी महानिरीक्षक (IG) मौजूद न हो, तब DIG का कर्त्तव्य बनता है की वह महानिरीक्षक  (IG) का प्रतिनिधित्व करे।
  • जब तक उनके पास नियंत्रण का एक बड़ा क्षेत्र है, तब तक अपनी पूरी क्षमता के अनुसार अपने क्षेत्र में शांति बनाये रखे।
  • पुलिस बल और अपने अधिकारियों तथा सहकर्मियों को संगठित और अनुशासित बनाये रखना।
  • एक  DIG का कर्त्तव्य है की वह उन परिस्थितियों का नियंत्रण करे जो SP के अधिकार के दायरे से बाहर है।
  • यदि जिलाधिकारी से कोई शिकायत है या कोई मामला है तो उन स्थितियों में DIG को IGP का प्रतिनिधित्व करना होता है। वह अपने दायरे में आने वाले मामलों को सुलझाता है और अन्य मामलों को समीक्षा के लिए पुलिस महानिरीक्षक (IG) के पास भेजता है। जिन मामलों में DIG और जिला मजिस्ट्रेट की राय के बीच विसंगति उत्पन्न हो, उन मामलों को भी महानिरीक्षक (IG) के पास भेजा जाता है ताकि महानिरीक्षक (IG) उन पर कोई निर्णय ले सके। 

यदि आपके मन में भी एक DIG अफसर बनने की चाह है तो नीचे दिए अंश को पढ़िए। 

How can you become a DIG? आप DIG कैसे बन सकते हैं?

DIG बनने के दो तरीके हैं – या तो आप UPSC की परीक्षा के माध्यम से DIG बन सकते हैं या फिर आप State PCS की परीक्षा से DIG बन सकते हैं। 

  • यदि UPSC की बात करें, तो आपको हमारे ब्लॉग के UPSC नामक पोस्ट से  UPSC की समस्त जानकारी प्राप्त हो जाएगी। DIG बनने के लिए सबसे पहले तो IPS बनना ज़रूरी है। फिर उन्हें प्रशिक्षण दिया जाता है। 
  • IPS का प्रशिक्षण पूरा होने पर उम्मीदवार को ASP (सहायक पुलिस अधीक्षक/Assistant Superintendent of Police) या ACP (सहायक पुलिस आयुक्त/Assistant Commissioner of Police)  के रूप में नियुक्त किया जाता है। 
  • ASP/ACP पद के बाद, आवेदकों को उनके अनुभव, उपलब्धियों और प्रदर्शन के आधार पर SSP (वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/Senior Police Superintendent) और अंत में  DIG (पुलिस उप महानिरीक्षक/Deputy Inspector General of Police) के रूप में पदोन्नत किया जाता है।
  • यदि कोई उम्मीदवार State PCS परीक्षा द्वारा DIG बनना चाहता है, तो सबसे पहले उसे PCS की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी। आपको हमारे ब्लॉग के दूसरे लेख में PCS की पूरी जानकारी मिल जाएगी। 
  • पहले तो उम्मीदवार की नियुक्ति DSP (पुलिस उप-अधीक्षक/Deputy Superintendent of Police) के पद पर होती है। 
  • अपने अनुभव और प्रदर्शन के आधार पर उमीदवार पदोन्नत होकर SSP बनते हैं और फिर DIG बन जाते हैं  

महत्वपूर्ण लेख:

What are criterias required to become a DIG? DIG बनने के लिए क्या मापदंड आवश्यक हैं?

  • आवेदक या तो एक भारतीय नागरिक होना चाहिए, अथवा नेपाल और भूटान का नागरिक, या एक तिब्बती शरणार्थी होना चाहिए, जो स्थायी रूप से भारत में रहने के इरादे से आया है, या एक पाकिस्तानी, बर्मी, श्रीलंकाई, या पूर्वी अफ्रीकी प्रवासी होना चाहिए जो भारत में बसने के इरादे से आता है। 
  • अब शैक्षणिक योग्यता की बात करें तो DIG की वही शैक्षणिक योग्यता होती है जो किसी IPS की होती है क्यूंकि IPS अफ़सर बने बिना एक उम्मीदवार DIG नहीं बन सकता। प्रार्थक का किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से कम से कम स्नातक होना अनिवार्य है। किसी भी विषय पर या स्ट्रीम में स्नातक की डिग्री प्राप्त की जा सकती है। 
  • उम्मीदवार को UPSC परीक्षा के तीनों चरण को सफलतापूर्वक उत्तीर्ण करना होगा – Prelims, Mains और Interview। आवश्यक अंक मिलने पर आप IPS बन जाते हैं।  फिर आप को करीब दो साल का प्रशिक्षण दिया जाता है, तब जाकर आप IPS अधिकारी बनते है। और जैसा की हम पहले भी कह चुके हैं, DIG बनने के राह में पहली सीढ़ी है IPS बनना। फिर ASP या ACP और अंत में धीरे-धीरे पदोन्नत होते हुए उम्मीदवार DIG बन जाता है। 

Salary and perks of DIG: DIG के वेतन और सुविधाएं:

6th CPC के अनुसार DIG की मासिक आय Rs. 37,400-67,000 (Rs. 8090 ग्रेड पे के साथ) तक हो सकती है। इसके अतिरिक्त उन्हें अन्य कई सुविधाएं प्राप्त होती है जैसे, 

  • किराया मुक्त आवास
  • आधिकारिक वाहन
  • ड्राइवर
  • मुफ्त बिजली
  • चिकित्सा उपचार का व्यय
  • भुगतान अध्ययन अवकाश (paid study leave)
  • टेलीफोन कनेक्शन
  • सुरक्षा गार्ड
  • घरेलू सहायक
  • मुफ्त टेलीफोन कनेक्शन
  • आजीवन पेंशन

दोस्तों हमने आपको इस आर्टिकल के ज़रिये DIG की पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। अगर आपको भी यह लेख पसंद आता है तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर ज़रूर करें और नीचे कमेंट सेक्शन में अपनी राय बताना न भूलें। 

More important full forms:

DIG Full Form: Conclusion

तो दोस्तों ये था एक DIG या DIG अधिकारी से जुडी सारी जानकारी। इसक लेख में मैं आपको डीआईजी का फुल फॉर्म (DIG full form in Hindi) के अलावा ये भी बताया है की डीआईजी क्या है (what is DIG), DIG officer कैसे बने, DIG बनने के लिए योग्यता, सैलरी, अन्य सुविधाएं आदि की भी विस्तृत जानकारी दिया है इस लेख में।

दोस्तों डीआईजी ऑफिसर को अनेको सुविधाएँ तो मिलती ही हैं पर भारत में देश के स्तर के अलावा समाज में भी काफी इजत होती है इनकी क्योकि देश के लिए ये बहुत बड़ा योगदान देते हैं।

अगर आपका भी सपना है की आप एक DIG officer बनो और देश या समाज की सेवा करो तो इसके लिए आपको दृढ संकल्प और त्याग की जरूरत होगी। आपको ये पता होना चाहिए की की DIG बनने के लिए दी जाने वाली UPSC या फिर STATE PCS की परीक्षा बहुत ही कठिन होता है इसलिए आपको बहुत अच्छी तयारी करनी होगी तब जाके आप अच्छे मार्क्स की उम्मीद कर सकते हैं। दोस्तों हमारी की सुभकामनाएँ आपके साथ है।

अंत में मैं आपसे यही काना चाहूँगा की अगर आपको DIG full form, (डीआईजी का फुल फॉर्म), DIG कैसे बने, सैलरी, योग्यता आदि की जानकारी अच्छी लगी हो और आपको इस लेख से कुछ सिखने को मिला हो तो इसे सोशल मीडिया पे शेयर अवश्य करने ताकि अन्य लोग भी DIG full form in Hindi जान सकें।

Related Articles

Leave a Comment

error: Alert: Content selection is disabled!!