25+ Spoken English PDF Ebook Bundle Download

IQ full form: आईक्यू क्या है और इसका इतिहास, IQ कैसे मापा जाता है?

जब लोगों की बुद्धिमत्ता पर चर्चा होती है तब एक शब्द अक्सर इस्तेमाल किया जाता है – IQआईक्यू को बुद्धिमत्ता का पर्याय मान लिया जाता है। आज यह IQ ही हमारे आर्टिकल का विषय है। इस लेख के अंत तक आप जान जाएंगे की IQ क्या होता है, IQ full form क्या है, इसकी उत्पत्ति कैसे हुई और इसकी गणना कैसे होती है?

IQ full form

आपने अकसर लोगो से कहते सुना होगा की उसका IQ level बहुत हाई है या उसका IQ कमजोर। इतना तो सभी लोग जानते हैं की यह बुद्धिमानी (Intelligence) से जुड़ा हुवा शब्द है परन्तु गिने चुने लोगो को ही IQ का फुल फॉर्म पता होता है। हो सकता है की आप भी इन्ही में से एक होंगे। खैर कोई बात नहीं। आज का हमारा यह लेख आपकी सारी समस्या दूर कर देगी क्योकि आज मैं आपको IQ का फुल फुल फॉर्म (IQ full form), IQ क्या है (what is IQ in Hindi), History of IQ आदि।

IQ full form: आईक्यू का फुल फॉर्म क्या है?

चलिए सर्वप्रथम IQ का full form जानें।

English में IQ का full form है – Intelligence Quotient.

Hindi में IQ का full form है – बुद्धिलब्धि (इंटेलिजेंस कोशेंट)

What is IQ? – IQ क्या होता है?

IQ एक मानक स्कोर होता है जो यह दर्शाता है कि कोई व्यक्ति अपने समकक्ष समूह की तुलना में मानसिक रूप से कितना सक्षम है। IQ एक ऐसा स्कोर होता है जो किसी व्यक्ति की बुद्धि को मापता है।

IQ परीक्षण विभिन्न प्रकार के संज्ञानात्मक कौशल का आकलन करता है और इस परिक्षण से जो अंक प्राप्त होता है उसका उपयोग किसी व्यक्ति की बौद्धिक क्षमता और कौशल को जांचने के लिए किया जाता है। IQ टेस्ट सबसे लोकप्रिय मनोवैज्ञानिक परीक्षा है।

How did the IQ test originate? – IQ टेस्ट की शुरुआत कैसे हुई?

1800 के दशक के अंत में सर फ्रांसिस गैल्टन ने मानव बुद्धि पर कुछ लेख लिखे थे। गैल्टन का मानना ​​​​था कि मनुष्य को बुद्धिमत्ता विरासत में मिलती है। उनका मानना था की व्यक्ति के सेंसरी टास्कस पर प्रतिक्रिया उनकी बुद्धिमत्ता को दर्शाती है।

जेम्स मैककिन कैटेल और अन्य मनोवैज्ञानिकों ने सुझाव दिया कि IQ को मापने के लिए मानसिक परीक्षणों का उपयोग किया जा सकता है। पॉल ब्रोका और विल्हेम वुंड्ट जैसे हस्तियों ने भी मानव बुद्धि पर अपने-अपने विचार प्रकट किये। हालांकि पहला सटीक IQ टेस्ट इसके कुछ सालों बाद बना।

अल्फ्रेड बिनेट (1857-1911) और थियोडोर साइमन (1873-1961) ने 1904 में IQ में पहला आधुनिक बुद्धि परीक्षण विकसित किया। इसे साइमन-बिनेट IQ टेस्ट के नाम से भी जाना जाता था।

फ्रांस में सभी बच्चों का स्कूल जाना कानूनी रूप से अनिवार्य था। जिन बच्चों को अतिरिक्त सहायता की आवश्यकता हो सकती है, उन्हें चिन्हित करने के लिए एक विधि खोजना महत्वपूर्ण था। फ्रांस के शिक्षा मंत्रालय ने इन शोधकर्ताओं को एक परीक्षण तकनीक आविष्कार करने का जिम्मा सौंपा, जिससे उन बच्चों के बीच अंतर किया जा सके जो  प्रतिभाशाली हैं लेकिन अकर्मण्य हैं, और जो मानसिक रूप से विकलांग हैं।

इस परीक्षण से जो अंक प्राप्त हुए उन्हें बच्चे की उम्र के साथ संयुक्त करके यह निर्धारण किया गया कि बच्चा बौद्धिक रूप से उसी उम्र के अन्य बच्चों की तुलना में तेज है या नहीं। यह परीक्षण यूरोप और संयुक्त राज्य अमेरिका में बहुत कामयाब रहा। 

पर इस तकनीक के भी अपनी कुछ असुविधाएं थीं। आइये जानते हैं की वे क्या थीं। 

What were the limitations of the Simon-Binet IQ test? – साइमन-बिनेट परीक्षण की क्या सीमाएँ थीं?

बिनेट का मानना था की उनके साइकोमेट्रिक उपकरण अनूठे, अपरिवर्तनीय और जन्मजात बुद्धि को नहीं माप सकते। उन्होंने तर्क दिया कि बुद्धिमत्ता एक ऐसी धारणा है जिसे केवल एक संख्या द्वारा मापा नहीं जा सकता। बिनेट के अनुसार, बुद्धि बहुत ही जटिल कांसेप्ट है क्योंकि यह विभिन्न प्रकार की चीज़ों से प्रभावित होती है, समय के साथ विकसित होती है, और इसकी तुलना केवल समान परिस्थिति वाले बच्चों में की जा सकती है। 

बिनेट-साइमन IQ परीक्षण ने केवल बुद्धि का आंशिक मूल्यांकन प्रदान किया क्योंकि यह हमेशा इस जटिलता को ध्यान में नहीं रखता था। अच्छे परिणाम प्रदान करने के लिए कुछ मनोवैज्ञानिकों ने नए अधिक गहन बुद्धि परीक्षण के तकनीक विकसित किए।

अब हम ऐसे ही परीक्षण तकनीक पर चर्चा करेंगे जो बिनेट-साइमन IQ टेस्ट से थोड़े बेहतर थे।

Stanford-Binet Scale: स्टैनफोर्ड-बिनेट स्केल

स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के मनोवैज्ञानिक लुईस टर्मन ने बिनेट के मूल परीक्षण में बदलाव लाने के लिए कुछ अमेरिकी स्वयंसेवकों की सहायता ली। परिणामस्वरूप, एक नया परीक्षण तकनीक का आविष्कार हुआ जो बिनेट-साइमन टेस्ट का ही एक संशोधित रूप था। इसका नाम पड़ा स्टैनफोर्ड-बिनेट इंटेलिजेंस स्केल या स्टैनफोर्ड-बिनेट स्केल। इस परीक्षण का विकास 1916 में हुआ। 

स्टैनफोर्ड-बिनेट परीक्षण केवल एक संख्या के माध्यम से मानव बुद्धि को मापता है। इस संख्या को IQ कहा जाता है। कई बदलावों से गुजरने के बाद बावजूद, इस परीक्षण तकनीक को आज भी सबसे लोकप्रिय बुद्धिमत्ता मूल्याङ्कन तकनीक के रूप में माना जाता है। किसी व्यक्ति के IQ की गणना उनके मानसिक आयु को उनकी कालानुक्रमिक आयु से विभाजित करके की जाती है, फिर इस संख्या को 100 से गुणा कर दिया जाता है। 

मान लीजिये, किसी बच्चे की मानसिक उम्र है 15 साल और उसका कालानुक्रमिक उम्र है 10 साल। तब उसका IQ बनता है (15/10)x100 = 150.

Wechsler Intelligence Scale: वेक्स्लर इंटेलिजेंस स्केल:

लुईस टर्मन की तरह एक और मनोवैज्ञानिक डेविड वेक्स्लर ने 1955 में एक तकनीक का आविष्कार किया जिसमें विभिन्न मानसिक क्षमताओं के आधार पर बुद्धि की गणना शामिल थी।

उनका मानना था की उनकी तकनीक स्टैनफोर्ड-बिनेट परीक्षण से बेहतर है। बच्चों के लिए वेक्स्लर इंटेलिजेंस स्केल (WISC) और वेक्स्लर प्रीस्कूल और प्राइमरी स्केल ऑफ़ इंटेलिजेंस (WPPSI) नामक दो परीक्षण तकनीकों का विकास किया गया।  ये तो रही बच्चों की बात, इन तकनीकों के वयस्क संस्करण भी उपलब्ध थे जिनमे अनेक संशोधन किये गए और अब इसे WAIS-IV के नाम से जाना जाता है। 

WAIS-IV स्कोर परीक्षार्थी के स्कोर की उसी उम्र के अन्य परीक्षार्थियों के स्कोर के साथ तुलना करके निर्धारित किया जाता है। औसत स्कोर 100 पर सेट किया गया है। दो-तिहाई स्कोर सामान्य सीमा के भीतर आते हैं, जो 85 और 115 के बीच है। स्कोरिंग का यह तरीका बुद्धि परीक्षणों में स्वीकार्य हो गया है, और यह वर्तमान स्टैनफोर्ड-बिनेट परीक्षण संस्करण में भी कार्यरत है।

Why is an IQ test useful? – IQ टेस्ट क्यों उपयोगी है?

  • कभी-कभी आपराधिक न्याय प्रणाली में IQ परीक्षणों का उपयोग किया जाता है ताकि यह पता चले की करवाई के दौरान व्यक्ति अपना बचाव कर पायेगा या नहीं। 
  • IQ परीक्षण से सीखने की समस्याओं का पता लगाने में मदद मिल सकती है।
  • कंप्यूटर में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) उन्हीं सिद्धांतों का उपयोग करता है, जो मनुष्यों पर IQ परीक्षण के लिए किया जाता है।
  • IQ मानसिक बीमारी की भविष्यवाणी करने की संभावना रखता है। 
  • कभी-कभी, चिकित्सा की प्रभावशीलता या संज्ञानात्मक कार्य पर चिकित्सा उपचार के प्रभाव का आकलन करने के लिए IQ परीक्षणों का उपयोग किया जाता है।

दोस्तों हमने आपको IQ की पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। अगर आपको यह लेख पसंद आता है तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर ज़रूर करें और नीचे कमेंट सेक्शन में अपनी राय बताना न भूलें।

More Important Full Forms:

IQ full form: Conclusion

इस लेख में मैंने आपको आईक्यू (IQ) की सारी महत्वपूर्ण जानकारी देने की कोसिस किया है जैसे IQ kya haiIQ ka full form (IQ full form in Hindi), IQ से अभिप्राय?, IQ का इतिहास, आईक्यू कैसे मापा जाता है आदि।

अंत में मैं आप से यही कहना चाहूँगा की अगर आपको IQ full form, what is IQ in Hindi वाली यह लेख पसंद आया हो तो इसे सोशल मीडिया पे शेयर जरुर करें। अगर आप कुछ कहना या पूछना चाहते हैं तो निचे कमेंट कर सकते हैं।

Related Articles

Leave a Comment

error: Alert: Content selection is disabled!!