NCR Full Form: एनसीआर क्या है इसका फुल फ्रॉम, क्षेत्र, बनाने के उदेश्य क्या हैं?

NCR full form: भारत देश मैं बहुत से क्षेत्रों की गणना एनसीआर (NCR) नामक शब्द में की जाति है। यदि आप एक भारतीय है तो आपने दिल्ली NCR के नाम को तो सुना ही होगा। परंतु बहुत से लोग इस शब्द का अर्थ नही जानते।

तो आखिर होता क्या है यह NCR?, एनसीआर का फुल फॉर्म (FULL FORM OF NCR) क्या है?, कौन-कौन से शहर एनसीआर के अंतर्गत आते हैं? आदि इन सभी प्रश्नों का उत्तर सभी लोग जानना चाहते हैं। तो चलिए आज के इस लेख में हम एनसीआर के बारे में सारी चीज़े जानते हैं।

NCR FULL FORM

NCR Full Form: (NCR का फुल फॉर्म क्या हैं)

एनसीआर का फुल फॉर्म जानना भी उतना ही जरूरी हैं जितना इसके बारे में जानना है। एनसीआर का फुल फॉर्म “National Capital Region” (नेशनल कैपिटल रीजन) हैं। भारतीय हिंदी भाषा में इसे “राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र” के नाम से भी जाना जाता है।

एनसीआर (NCR) क्या है? – What exactly is Delhi NCR

NCR एक ऐसा क्षेत्र होता है जिसके अंदर कई राज्य शामिल होते हैं आमतौर पर हम सभी देखते हैं कि दिल्ली-एनसीआर नामक एक शब्द कहा जाता है।

दिल्ली एनसीआर के अंतर्गत बहुत से आस- पड़ोस के राज्य आते हैं। दिल्ली एनसीआर का निर्माण करने का एक बहुत ही मुख्य कारण है। जैसा कि हम सभी जानते हैं दिल्ली एक घनी आबादी वाला क्षेत्र है तथा यहां पर कई शहरों से लोग नौकरी की तलाश में आते हैं इसी कमी को दूर करने के लिए भारत सरकार द्वारा नेशनल कैपिटल रीजन का गठन किया। जानकारी के लिए बता दें एनसीआर का पुराना नाम नेशनल कैपिटल रीजन प्लानिंग बोर्ड था जिसे भारत सरकार द्वारा 1985 में स्थापित किया गया था।

NCR मैं आने वाले क्षेत्र कौन-कौन से हैं? (AREAS COMES UNDER NCR)

बहुत से लोग एनसीआर को तो जानते हैं परंतु यह नहीं जानते कि एनसीआर के अंतर्गत कौन-कौन से राज्य आते हैं। वर्तमान समय में 24 जिले एवं शहर है। इन 24 जिलों में से कुछ जिले एवं शहर छोटे हैं तथा कुछ बड़े हैं।

  1. शामली 
  2. हापुर 
  3. अलवर 
  4. भरतपुर 
  5. मेवात 
  6. मुजफ्फरनगर 
  7. गुड़गांव 
  8. पलवल 
  9. बुलंदशहर 
  10. गाजियाबाद 
  11. बागपत 
  12. सोनीपत 
  13. भिवानी 
  14. पानीपत 
  15. रोहतक 
  16. करनाल 
  17. फरीदाबाद 
  18. गौतम बुध नगर 
  19. जिंद
  20. महेंद्रगढ़ 
  21. रेवाड़ी
  22. झाझर
  23. चरखी दादरी
  24. नूह

आखिर किस उद्देश्य से एनसीआर का निर्माण करा गया था? (What is the reason behind creating NCR )

दिल्ली, जिसे भारत की राजधानी के नाम से भी जाना जाता है, जिसकी जनसंख्या तो बहुत ही ज्यादा है परंतु क्षेत्रफल बहुत ही कम है। बहुत ही ज्यादा जनसंख्या होने के कारण NCR का निर्माण किया गया।

इसका उद्देश्य यह था कि आसपास के राज्य एवं शहरों को मिलाकर दिल्ली का एक सेट बनाया जाए जिसका नाम एनसीआर रख दिया जाए।

इतना ही नहीं जिन भाई शहरों का नाम आपको बताया गया है उन सभी का विकास करने की जिम्मेदारी एनसीआर की होती हैं। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि दिल्ली को मेट्रो सिटी भी कहा जाता है तथा दिल्ली की मेट्रो अन्य कई शहरों एवं गावों को भी जोड़ती है।

इसी कारण से वर्तमान समय में लोगों के आवागमन में परेशानी नहीं होती है। दिल्ली मेट्रो एक एनसीआर के विकास का उदाहरण है तथा इसी प्रकार के कई कार्य एनसीआर द्वारा किए गए हैं।

एनसीआर का इतिहास? (What is history of NCR)

एनसीआर का गठन नेशनल कैपिटल रीजन प्लैनिंग बोर्ड एक्ट के अंतर्गत 1985 में किया गया था तथा 1985 मैं एनसीआर की सीमाएं 34144 स्क्वायर किलोमीटर का क्षेत्र कवर करती थी।

एनसीआर के निर्माण के पहले दिल्ली को (DMA) DELHI METROPOLITAN AREA के नाम से जाना जाता था दिल्ली मेट्रोपॉलिटन एरिया की सीमाओं में गाजियाबाद, फरीदाबाद, बल्लभगढ़, गुड़गांव, भानगढ़ और लोनी जैसे ग्रामीण क्षेत्र आते थे तथा इन सभी ग्रामीण क्षेत्रों की जनसंख्या 1951 में 21 लाख से कुछ ही कम थी।

अगस्त 1990 में दिल्ली मास्टर प्लान को मंजूरी देकर शुरू कर दिया गया जिसके अंतर्गत बहादुरगढ़, नोएडा को समाहित किया गया तथा उसके बाद कुंडी नामक शहर को दिल्ली मेट्रोपॉलिटन एरिया के अंतर्गत लिया गया जो कि कुल मिलाकर 3182 वर्ग किलोमीटर का क्षेत्र समाहित करते थे।

9 जून 2015 को भारतीय सरकार द्वारा तीन जिलों को एनसीआर में मिलाने का अप्रूवल पास किया गया इन जिलों में जींद,पानीपत और करनाल का नाम शामिल था। यह तीनों जिले हरियाणा एवं मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश के राज्यों में से थे। दिसंबर 2017 में शामली जिला उत्तर प्रदेश राज्य से एनसीआर में अनुकूलित किया गया।

इस प्रकार से 2021 तक 24 जिलों का नाम एनसीआर में शामिल हो चुका था। 24 जिलों में दिल्ली के 11 जिले अनुकूलित नही हैं।

NCR में परिवहन व्यवस्था (TRANSPORTATION SYSTEM IN NCR)

NCRTC (NATIONAL CAPITAL REGION TRANSPORT CORPORATION) के द्वारा भारतीय सरकार तथा हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और दिल्ली सरकार से संयुक्त उद्यम किया गया एनसीआरटीसी का संयुक्त उद्यम करने का उद्देश्य पूरे एनसीआर में RRTS (REGIONAL RAPID TRANSIT SYSTEM) को लागू करवाना था। सिस्टम द्वारा शहरी क्षेत्रों में विकास होता रहेगा तथा एनसीआर के सभी क्षेत्रों के बीच आवागमन में आसानी होगी। 

यूनियन कैबिनेट द्वारा NCRTC का यह प्रस्ताव मंजूर कर दिया गया तथा एनसीआरटीसी को कंपनीज एक्ट 1956 के अंतर्गत रजिस्टर कर दिया गया। जुलाई 2013 से RRTS को NCR में लागू कर दिया गया। इसी कारण से एनसीआर क्षेत्रों के बीच तेज एवं आरामदायक ट्रांसपोर्ट चैनल का निर्माण हो सका।

21 अगस्त 2013 में NCRTC को शामिल किया गया तथा जुलाई 2016 में विनय कुमार सिंह को पहला रेगुलर मैनेजिंग डायरेक्टर बना दिया गया।

More Important Full Forms:

NCR full form: निष्कर्ष! (Conclusion)

दिल्ली भारत के सबसे प्रदूषित क्षेत्रों में से एक है। NCR का 51% प्रदूषण औद्योगिक प्रदूषण होता है तथा 27% वाहनों द्वारा किया जाता है। एनसीआर भारत की एक बहुत ही मुख्य प्रणाली है। जैसे-जैसे एनसीआर का क्षेत्रफल बढ़ता जा रहा है वैसे ही दिल्ली के प्रदूषण में भी राहत मिलना शुरू हो गई है।

भविष्य काल में भारत सरकार द्वारा कुछ और जिलों एवं सेहरो को भी इसके अंदर समाहित किया जा सकता हैं। वर्तमान समय एनसीआर भारत का कुल 50444 वर्ग किलोमीटर का क्षेत्र कवर करती है। इतना ही नहीं एनसीआर के कारण लोगों के रोजगार क्षेत्र में भी वृद्धि होती है। एनसीआर के कारण ग्रामीण एवं शायरियांक्षेत्रों में वृद्धि होती है और इसी के कारण से ही यातायात भी सुचारू रूप से जनता को सेवा प्रदान कर पाती है।

इस लेख में मैंने आपको NCR की सारी महत्वपूर्ण जानकारी देने की कोसिस किया है जैसे NCR kya haiNCR ka full form (NCR full form in Hindi), एनसीआर के घठन का मुख्या उदेश्य, DELHI NCR क्या है आदि।

अंत में मैं आप से यही कहना चाहूँगा की अगर आपको NCR full form, what is NCR in Hindi वाली यह लेख पसंद आया हो तो इसे सोशल मीडिया पे शेयर जरुर करें। अगर आप कुछ कहना या पूछना चाहते हैं तो निचे कमेंट कर सकते हैं।

Related Posts

Leave a Comment

error: Alert: Content selection is disabled!!